KARMCHARI SANGH

KARMCHARI SANGH

NREGA KARMCHARI SANGH UTTAR PRADESH
Mr. Kamlesh Kumar Gupta - Pradesh Prabhari (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Devendra Pratap Shahi - Pradesh Adhyaksha (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Bhupesh Kumar Singh - Pradesh Mahamantri (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Vishnu Pratap Singh - Pradesh Sangthan Mantri (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Vinay Dwivedi- Pradesh Adhyaksha ( NREGA Karmik Sangh U.P.)
हमारा सन्देश

प्रिय साथियों व मित्रगण
नरेगा उत्तर प्रदेश कर्मचारी संघ आप का हार्दिक स्वागत व अभिनन्दन करता है


हम आप के आभारी है
यु० पी० नरेगा कर्मचारी संघ
हम सब एक है

हम सब एक है

उत्तर प्रदेश मनरेगा कर्मचारी संघ - जिंदाबाद- जिंदाबाद

अब संविदा कामगारों को भी मिलेगा नियमित जैसा वेतन

अधिनियम-1970 में संशोधन का मसौदा तैयार
The government's efforts to halt the country Phnuchi contract workers for the same work, same pay, benefits will, there are regular employees. The Government Contract Labour (Regulation and Abolition) Act is being amended. Union Labour and Employment Minister Mallikarjun Kharge labor organizations across the country last month, organized and unorganized sector workers strike over two days to discuss that at the Rajya Sabha was informed on Friday. As part of that Contract Labour (Regulation and Abolition) Act has been drafted amendments to -1970. The government is looking at him seriously. All parties are talking. The minimum wage in the country for similar changes in the draft law. He will soon be introduced in Parliament. Whereas, under the EPF scheme proposed is designed to increase the pension amount. Motive, the pension amount is increased to at least a thousand rupees a month.
सरकार की कोशिशें मुकाम तक पहंुची तो देश के संविदा कामगारों को भी समान काम के लिए वही वेतन, सुविधाएं मिल सकेंगी, जो नियमित कर्मचारियों को मिलती हैं। इसके लिए सरकार संविदा श्रमिक (विनियमन एवं उन्मूलन) कानून में संशोधन करने जा रही है। जबकि असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए देश भर में एक समान न्यूनतम मजदूरी पर वह अलग से काम कर रही है। केंद्रीय श्रम एवं सेवायोजन मंत्री मल्लिकार्जुन खरगे ने पिछले महीने देश भर में श्रमिक संगठनों, संगठित और असंगठित क्षेत्र के कामगारों की दो दिनी हड़ताल को लेकर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा के बाद शुक्रवार को राज्यसभा में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार राष्ट्रीय स्तर पर समान न्यूनतम मजदूरी तय करने के लिए कानून में बदलाव तो लाने जा ही रही है, साथ ही संविदा कामगारों के मामले में भी गंभीर है। उसी क्रम में संविदा श्रमिक (विनियमन एवं उन्मूलन) अधिनियम-1970 में संशोधन का मसौदा तैयार हो चुका है। सरकार उस पर गंभीरता से विचार कर रही है। सभी पक्षकारों से बात भी हो रही है। उन्होंने कहा कि कानून में संशोधन का एक खास मकसद यह भी है कि संविदा कामगारों को भी वही वेतन, छुट्टियां व सामाजिक सुरक्षा मिल सके, जो उसी काम या फिर उस तरह के काम के लिए नियमित नियुक्ति वाले कामगारों को मिलती है। उन्होंने कहा कि देशभर में समान न्यूनतम मजदूरी के लिए कानून में बदलाव का मसौदा तैयार है। उसे जल्द ही संसद में पेश किया जाएगा। जबकि, कर्मचारी भविष्य निधि योजना के तहत पेंशन राशि बढ़ाने के लिए भी प्रस्ताव तैयार किया गया है। मकसद, मौजूदा पेंशन राशि को बढ़ाकर कम से कम एक हजार रुपए महीने करना है।

क्या हम नियमित होने योग्य है ?

हाँ (1649 | 89%)
नहीं (87 | 5%)
इस फार्म को सावधानी पूर्वक भरे तथा Submit करने के बाद ५-१० मिनट इंतज़ार करे जब तक की कन्फर्मेशन मैसेज न मिल जाये !
दोस्तों!
क्या आप ने मछली को तैरते हुए देखा है ?
शायद आप का जवाब हो, हाँ
पर हम यहाँ आप को अस्वस्त कर देना चाहते है की आप नदी,तालाब ,पोखरे
या अन्य किसी स्थल पर तैरते हुए मछली को देखे होंगे जो पूरी तरह स्वस्थ
और स्वतंत्र होती है,पर हमारी स्थिति इसके विपरीत चुल्लू भर पानी में तड़पने
वाली मछली के सामान है और ऊपर से यह चिलचिलाती धुप और चुल्लू भर
पानी को भी सुखाता ( अवशोषित करता ) हुआ सूर्य !
हम बात कर रहे है अपनी जिसे समुन्द्र नदी और तालाब तो नहीं मिला है
किन्तु भूख और पेट तो हमारे भी उन्ही मछलियों के सामान है, सच कहे तो आज
इस स्थिति में है की हमें विगत दिनों/महीनो से चुल्लू भर पानी भी नहीं मिल रहा है ,

" पर अब हम एक है और पुर्णतः संगठित है और हम इसी तरह मिल कर कार्य करते रहे तो वो दिन दूर नहीं जब नदी में तैरेंगे ही नहीं बल्कि समुन्द्र भी प्राप्त कर सकते है !"



MNREGA Karmchari sangh
Uttar Pradesh ( India )
 चल रहे कार्य :

चल रहे कार्य :

विभिन्न स्थलों पर चल रहे कार्यो की एक झलक
Name
Email
Comment
Or visit this link or this one