KARMCHARI SANGH

KARMCHARI SANGH

NREGA KARMCHARI SANGH UTTAR PRADESH
Mr. Kamlesh Kumar Gupta - Pradesh Prabhari (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Devendra Pratap Shahi - Pradesh Adhyaksha (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Bhupesh Kumar Singh - Pradesh Mahamantri (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Vishnu Pratap Singh - Pradesh Sangthan Mantri (Gram Rojgar Sevak Sangh U.P.)
Mr. Vinay Dwivedi- Pradesh Adhyaksha ( NREGA Karmik Sangh U.P.)
हमारा सन्देश

प्रिय साथियों व मित्रगण
नरेगा उत्तर प्रदेश कर्मचारी संघ आप का हार्दिक स्वागत व अभिनन्दन करता है


हम आप के आभारी है
यु० पी० नरेगा कर्मचारी संघ
हम सब एक है

हम सब एक है

उत्तर प्रदेश मनरेगा कर्मचारी संघ - जिंदाबाद- जिंदाबाद

धरने और आन्दोलन

एक और अश्वासन : जी हाँ सरकार के मंत्री जी ने फिर से दिलाया भरोसा और पुनः दिए अश्वासन जिसके बाद एक ही दिन में धरना असफल रूप में समाप्त हुआ बिना किसी मांग को माने अतः अब राज्य स्तरीय धरने को समाप्त कर संगठन ने ८ व ९ अगस्त २०१३ को दिल्ली चलने का निर्णय लिया
Padadhikarigan

Padadhikarigan

Padadhikarigan

ग्राम रोजगार सेवको का विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव
विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव
विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव

विधान भवन घेराव

ग्राम रोजगार सेवको के धरने से भयभीत सरकार ने रोजगार सेवको के खिलाफ कार्यवाही का मन बना लिया है

Amar Ujala

Amar Ujala

Amar Ujala
आश्वासन के बावजूद नियमित किये जाने की जगह दायित्व निर्वहन में शिथिलता का आरोप लगाकर पदच्युत करने के विरोध में ग्राम रोजगार सेवकों ने 24 जून को विधान भवन का घेराव कर धरना-प्रदर्शन करने का फैसला लिया है। यह निर्णय उत्तर प्रदेश ग्राम रोजगार सेवक संघ की जीपीओ पार्क में रविवार को हुई प्रांतीय बैठक में लिया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए संगठन के प्रदेश प्रभारी कमलेश कुमार गुप्त, प्रदेश अध्यक्ष देवेन्द्र प्रताप शाही व महामंत्री भूपेश कुमार सिंह ने कहा कि प्रदेश की सपा सरकार ग्राम सेवकों के साथ जो सौतेला व्यवहार कर रही है उसके लिए उन्हें आंदोलन छेड़ने को बाध्य होना पड़ रहा है
यू.पी.ए.2 सरकार का चरितार्थ होता नारा ' हो रहा भारत निर्माण ' आज उ.प्र. के 65हजार मनरेगा कर्मियोँ को बधुआँ मनरेगा कर्मी बना दिया गया है जिनको पिछले 8 से20 माह का उनका न्यूनतम् मानदेय भी नही दिया गया ऊपर से रिकबरी की सूची जारी करके उनसे जबरन काम कराया जा रहा है तथा काम न करने पर निकालने की धमकी दी जाती है ।

अतः सरकार की इस महान उपलब्धि पर सभी मनरेगा कर्मी भाई एवं बहनो से निवेदन है कि एक पोस्टकाड्रस के माध्यम से माननीय प्रधानमँत्री डा॰मनमोहन सिँह जी को बधाई सन्देश भेजने का कष्ट करेँ ।
24-JUN-2013

24-JUN-2013

Dharna 24-06-2013

धरने और आन्दोलन

अर्ध नग्न प्रदर्शन

अर्ध नग्न प्रदर्शन

Bhaiyon aap logo se apeal hai kee saare NREGA karmchaari apni jaroorat ka ahsaas iss sarkaar and iss sarkaar me karya rat adhikariyon ko dilayen, agar hamare jaroorat mahsoos nahee hogi tab tak ye sarkaar hamari mango ko poora nahee karegee, hamree maange sirf ek karmchari ko jo milnee chaaiye usi ke liye hai, hum sbhi se punah aunrodh karte hain ki sabi apne apne janpad pe ekatrit hote huye apni mool mango ko sarkaar ke samach ek awaaj me prastut karen - Jai hind, jai MGNREGA
जूता पालिश करते हुए

जूता पालिश करते हुए

ग्राम रोजगार सेवकों के मामले में कर्मचारी परिषद ने सीएम को भेजी चिट्ठी लखनऊ (एसएनबी)। उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने ग्राम रोजगार सेवकों की समस्याओं को हल कराने की मांग प्रदेश के मुख्यमंत्री से की है। संगठन के अध्यक्ष एसपी तिवारी ने बताया कि इस सम्बन्ध में एक पत्र भी मुख्यमंत्री को भेजा गया है। पत्र में उन्हें रोजगार सेवकों की समस्याओं से अवगत कराया गया है। पत्र में कर्मचारियों के विनियमितीकरण की मांग प्रमुख रूप से की गयी है। श्री तिवारी के मुताबिक सरकार के चुनावी वादे के बावजूद इस मांग के पूरा नहीं होने पर कर्मचारियों में मायूसी है। अब मजबूर होकर कर्मचारी आन्दोलन कर रहे हैं।
वादा निभाओ आन्दोलन

वादा निभाओ आन्दोलन

चुनावी वादो को निभाओ अन्यथा ...........
Dharna pradarshan in District Hardoi(U.P.)
धरनों की सफलता और उसके बाद शासन द्वारा लिए गए निर्णय
मनरेगा की प्रगति रिपोर्ट एमआइएस पर दर्ज करें : गोप

जागरण ब्यूरो, लखनऊ : मनरेगा योजना की कैग रिपोर्ट में वित्तीय अनियमितताएं उजागर होने का खौफ ग्राम्य विकास विभाग की समीक्षा बैठक में दिखा। ग्राम्य विकास मंत्री अरविन्द कुमार सिंह गोप ने सोशल आडिट को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए। उन्होंने इंदिरा व लोहिया आवास आवासों का निर्माण गुणवत्ता के साथ शीघ्र सुनिश्चित करने को कहा।

शनिवार को यहां संयुक्त विकास आयुक्तों, मुख्य विकास अधिकारियों व परियोजना निदेशकों की बैठक में उन्होंने लोहिया समग्र ग्रामों के पात्र लाभार्थियों की सूची तैयार न होने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी। उन्होंने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए लक्ष्य निर्धारण दो सप्ताह में कराने के निर्देश दिए। ग्राम्य विकास की योजनाओं में गड़बड़ी पर संबंधित अधिकारी को दंड और अच्छे काम करने वाले को पुरस्कृत करने की घोषणा की। उन्होंने विकास कार्य में आने वाली दिक्कतों को तत्काल दूर काराने का आश्वासन दिया।

गोप ने मनरेगा योजना की प्रगति रिपोर्ट को एमआइएस (मैनेजमेंट इन्फारमेशन सिस्टम) पर पूर्णत: फीड करने के निर्देश दिये ताकि विकास कार्य दिखे और धन के उपयोग में पादर्शिता भी नजर आए। सोशल आडिट के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत को एक इकाई मानने की जानकारी दी।

---------------------

केंद्र से 450 करोड़ रुपए मिले

अध्यक्षता कर रहे प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास राजीव कुमार ने अधिकारियों को अपने उत्तरदायित्व समय से सम्पन्न कराने की हिदायत दीं। राम मनोहर लोहिया समग्र विकास योजना की सूची प्रेषित न करने पर संबंधित जिलों के अधिकारियों की क्लास ली। वित्तीय वर्ष की समाप्ति के पहले सभी योजनाओं में ग्रामों का संस्तृप्तीकरण होने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि 450 करोड़ रुपया भारत सरकार से मनरेगा के अंतर्गत प्राप्त हो गया है। जिसे जल्द जिलों को भेजा जा रहा है।

-----------------

छह प्रतिशत से अधिक व्यय नहीं

आयुक्त ग्राम्य विकास के रविन्द्र नायक ने बताया मनरेगा की प्रशासनिक मद की धनराशि का व्यय छह प्रतिशत से अधिक नहीं किया जायेगा। उन्होंने मनरेगा योजना में कर्मचारियों के अनुपात में काम बढ़ाया जाए अन्यथा कर्मचारियों की संख्या घटाई जाए। लोहिया तथा इंदिरा आवास योजना में कोई उपयुक्त पात्र व्यक्ति लाभ से वंचित न रहें।

------------------

गोरखपुर की तर्ज पर अन्य जिलों में चारागाह बनें

बैठक में स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की समीक्षा हुई। साथ ही मनरेगा योजना के तहत गोरखपुर की चारागाह विकास परियोजना की भाति अन्य जिलों में भी चारागाह विकसित करने के निर्देश दिए। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य बीमा योजना में भी विभागीय अधिकारियों से अपेक्षित सहयोग प्रदान करने को कहा गया।
विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक में ग्राम्य विकास मंत्री ने सुनाई खरी-खरी

जाब्यू, लखनऊ : ग्राम्य विकास मंत्री अरविंद सिंह गोप ने कहा है कि अधिकारियों के पास अब एक ही विकल्प है। उन्हें या तो कार्य करके अपनी उपयोगिता साबित करनी होगी या फिर नौकरी से इस्तीफा देकर घर बैठ जाना होगा। समाजवादी सरकार उन अधिकारियों को बरदाश्त नहीं करेगी, जिनका जनता और जनकल्याणकारी योजनाओं से कोई सरोकार नहीं है।

ग्राम्य विकास मंत्री बुधवार को लखनऊ में नौ मंडलों के संयुक्त विकास आयुक्त, जिला विकास विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक और खंड विकास अधिकारियों की संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार जनता को बेहतर शासन देने और जनकल्याण के प्रति समर्पित रहने के वादे पर सत्ता में आई है और उसे अपना यह वादा कर हाल में निभाना है। वादे को निभाने में अहम रोल अधिकारियों का ही है। कैबिनेट का काम तो सिर्फ नीति बनाने का होता है उसे अमली जामा पहनाने का जिम्मा अधिकारियों का होता है। अधिकारी अगर सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं करेंगे तो जनता को परिवर्तन का अहसास नहीं होगा।

ग्राम्य विकास मंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार में अधिकारी एकमुश्त रकम देकर पोस्टिंग पाते थे और अपनी कुर्सी बचाए रखने को हर महीने सरकारी योजनाओं के लिए मिलने वाली रकम का एक बड़ा हिस्सा 'पंचम तल' पहुंचाया करते थे, ऐसे में उन्हें जन सरोकार से कोई नाता नहीं रह गया था लेकिन अब यह चलने वाला नहीं है। अधिकारियों को सरकारी योजनाओं को ईमानदारी के साथ लागू करके दिखाना ही होगा वर्ना उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना होगा। उन्होंने घोषणा की कि अच्छे कार्य करने वाले अधिकारियों को सरकार पुरस्कृत भी करेगी। प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार ने अधिकारियों को समाजवादी सरकार की प्राथमिकताओं से अवगत कराया। प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास राजीव कुमार ने कहा कि प्रदेश को नया स्वरूप देने का जिम्मा विभागीय अधिकारियों पर ही। ग्राम्य विकास आयुक्त के रवींद्र नायक ने कहा कि अगर कोई अधिकारी अच्छा कार्य नहीं करेगा तो उसे दंडित किया जाएगा।
देवरिया : अठारह माह का बकाया व प्रतिमाह तैंतीस सौ रुपये मानदेय का भुगतान करने सहित अन्य समस्याओं को लेकर जिले भर के रोजगार सेवकों ने बुधवार को ब्लाकों में तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन किया। रोजगार सेवकों ने निर्णय लिया कि मांगें पूरी न होने पर भूख हड़ताल किया जाएगा।
सोनूघाट संवाददाता के अनुसार सदर विकास खंड गेट पर तालाबंदी कर ब्लाक अध्यक्ष सुनील कुमार द्विवेदी की अध्यक्षता में रोजगार सेवक धरने पर बैठ गए और जमकर नारेबाजी की। इस दौरान संतोष कुमार पांडेय, किरन कुमार, सत्यप्रकाश निराला आदि उपस्थित रहे।
रामपुर कारखाना व तरकुलवा संवाददाता के अनुसार संतोष कुमार यादव, राहुल कुमार आर्य, बृजेश यादव, प्रियंका राव, सरस्वती देवी, अमन, विनोद, शकुंतला आदि ने रामपुर कारखाना ब्लाक कार्यालय में तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन किया। तरकुलवा में ब्लाक अध्यक्ष शमशाद अहमद, संतोष सिंह के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन हुआ।
बरहज कार्यालय के अनुसार रोजगार सेवकों ने ब्लाक कार्यालय में तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन किया। आंदोलनकारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन बीडीओ रामदेव पटेल को सौंपा। इस दौरान जिला उपाध्यक्ष प्रभाकर पाठक, ब्लाक अध्यक्ष विवेक प्रताप सिंह, त्रिभुवन नाथ पांडेय, अवधेश कुमार आदि उपस्थित रहे।
सलेमपुर कार्यालय के अनुसार उत्तर प्रदेश रोजगार सेवक संघ व तकनीकी सहायक संघ ने विकास खंड कार्यालयों पर तालाबंदी कर प्रदर्शन किया। इसके बाद डीएम को संबोधित ज्ञापन बीडीओ को सौंपा। इस दौरान ब्लाक अध्यक्ष बबुंदर यादव, शैलेष सिंह, राजेंद्र मल्ल, जयराम प्रसाद, जयप्रकाश सिंह आदि उपस्थित रहे।
भागलपुर संवाददाता के अनुसार ब्लाक अध्यक्ष गंगा विशुन के नेतृत्व में रोजगार सेवक धरने पर रहे। इस दौरान कृष्ण कुमार तिवारी, मनोज यादव, अनीता देवी, चंद्रप्रकाश शर्मा, अजित यादव आदि उपस्थित रहे। भटनी संवाददाता के अनुसार जिला महामंत्री पंकज गौड़ के नेतृत्व में धरना-प्रदर्शन हुआ। इस दौरान श्रीवेश तिवारी, पप्पू कुमार, विनोद यादव, बीरबल, सुनैना देवी आदि उपस्थित रहे। लार प्रतिनिधि के अनुसार ब्लाक अध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में आनंद प्रकाश शर्मा, आजाद कुमार राय, शिल्पी सिंह, माया कुशवाहा, रागिनी सिंह आदि ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।
रुद्रपुर कार्यालय के अनुसार विकास खंड कार्यालय में तालाबंदी कर रोजगार सेवकों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान ब्लाक अध्यक्ष रणविजय राव, राजेश, चंदन कुमार, रजनीश, अशोक कौशल, मंजू देवी आदि उपस्थित रहे।
भाटपाररानी कार्यालय के अनुसार ब्लाक परिसर व बनकटा ब्लाक कार्यालय में तालाबंदी कर रोजगार सेवकों ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान ब्लाक अध्यक्ष विजय कुमार पांडेय, प्रदीप श्रीवास्तव, अमित मणि त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।
बनकटा संवाददाता के अनुसार घनश्याम कुशवाहा, विरेंद्र यादव, राजेश मिश्र, रविकांत मिश्र, अरूण कुमार, धनंजय आदि ने तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन किया।
रोजगार सेवकों की तालाबंदी
तालाबंदी

तालाबंदी

ब्लाक कार्यालय में तालाबंदी
तालाबंदी

तालाबंदी

ब्लाक कार्यालय में तालाबंदी
तालाबंदी

तालाबंदी

तालाबंदी

क्या हम नियमित होने योग्य है ?

हाँ (1583 | 89%)
नहीं (80 | 5%)
इस फार्म को सावधानी पूर्वक भरे तथा Submit करने के बाद ५-१० मिनट इंतज़ार करे जब तक की कन्फर्मेशन मैसेज न मिल जाये !
दोस्तों!
क्या आप ने मछली को तैरते हुए देखा है ?
शायद आप का जवाब हो, हाँ
पर हम यहाँ आप को अस्वस्त कर देना चाहते है की आप नदी,तालाब ,पोखरे
या अन्य किसी स्थल पर तैरते हुए मछली को देखे होंगे जो पूरी तरह स्वस्थ
और स्वतंत्र होती है,पर हमारी स्थिति इसके विपरीत चुल्लू भर पानी में तड़पने
वाली मछली के सामान है और ऊपर से यह चिलचिलाती धुप और चुल्लू भर
पानी को भी सुखाता ( अवशोषित करता ) हुआ सूर्य !
हम बात कर रहे है अपनी जिसे समुन्द्र नदी और तालाब तो नहीं मिला है
किन्तु भूख और पेट तो हमारे भी उन्ही मछलियों के सामान है, सच कहे तो आज
इस स्थिति में है की हमें विगत दिनों/महीनो से चुल्लू भर पानी भी नहीं मिल रहा है ,

" पर अब हम एक है और पुर्णतः संगठित है और हम इसी तरह मिल कर कार्य करते रहे तो वो दिन दूर नहीं जब नदी में तैरेंगे ही नहीं बल्कि समुन्द्र भी प्राप्त कर सकते है !"



MNREGA Karmchari sangh
Uttar Pradesh ( India )
 चल रहे कार्य :

चल रहे कार्य :

विभिन्न स्थलों पर चल रहे कार्यो की एक झलक
Name
Email
Comment
Or visit this link or this one